Bhartiya Parmapara

Dr Kishor Kumar

Dr Kishor Kumar
Dr Kishor Kumar

जन्म तिथि - 14-07-1996 पिता का नाम - श्री रामसेवक शर्मा जी योग्यता- बी.ए. (राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय धौलपुर) एम.ए.(हिंदी साहित्य) -((राजस्थान विश्वविद्यालय, जयपुर) पीएच.डी.(हिंदी साहित्य) - (महाराजा सूरजमल बृज विश्वविद्यालय, भरतपुर) NET- JRF - हिंदी साहित्य ( UGC - NTA)

भारत को सोने की चिड़िया क्यों कहते थे | भारत देश

भारत को सोने की चिड़िया क्यों कहते थे | भारत देश

मैं भारत हूं जिसकी गोद में नदियां खेलती हैं जिसके पर्वत आसमान के शिखरों पर शोभायमान हैं, मैं ज्ञान हूं, विज्ञान हूं, अनुशासन हूं, नीति हूं, राजनीति हूं, शिक्षा हूं, संय...

हरियाली अमावस्या  | शिव भक्ति | सावन का मौसम

हरियाली अमावस्या | शिव भक्ति | सावन का मौसम

हरियाली अमावस, जिसे हम सभी श्रावण मास कृष्ण पक्ष की अमावस्या को मनाते हैंl यह भारतवर्ष ही है जो किसी पर्व, त्योहार, उत्सवों के आगमन और प्रस्थान में भी समान रूप से अपने...

हरियाली अमावस्या  | शिव भक्ति | सावन का मौसम

हरियाली अमावस्या | शिव भक्ति | सावन का मौसम

भारत कहिए या आर्यावर्त कहिए संबोधन कुछ भी रहा हो मगर भाव सदा अविरल गंगा की धारा की तरह रहे हैं पूर्ण रूप से स्वच्छंद, पूर्ण रूप से पवित्र l 

गुप्त नवरात्रि की उपादेयता

गुप्त नवरात्रि की उपादेयता

हिन्दू धर्म शास्त्रों के अनुसार वर्ष में चार बार नवदुर्गा या नवरात्रि का आगमन क्रमशः - माघ, चैत्र, आषाढ़, आश्विन में होता है l चैत्र मास की नवरात्रि को बसंतोत्सव नवरात्रि अथवा बड़ी नवरात्रि कहा जाता...

गुप्त नवरात्रि की उपादेयता

गुप्त नवरात्रि की उपादेयता

स्वयं शक्ति - माया सृजित इस समूचे चराचर अखिल विश्व की पालनहार और कण कण की अधिष्ठात्री देवी है माँ आदिशक्ति भवानी l वह स्वयं ही ज्ञान - प्रदायिनी, विमल बुद्धिदात्री माँ...

निर्जला एकादशी  |  निर्जला एकादशी की कथा

निर्जला एकादशी | निर्जला एकादशी की कथा

निर्जला एकादशी से संबंधित दो पौराणिक कथाएं हैं और दोनों कथाएं ही अपने मूल रूप में पांडव पुत्र भीमसेन और महर्षि व्यास की वार्ता से संबंधित है | दोनों ही कथा का संयुक्त र...

निर्जला एकादशी  |  निर्जला एकादशी की कथा

निर्जला एकादशी | निर्जला एकादशी की कथा

कथा हो या आख्यान हो संदर्भ उनका चाहे ऐतिहासिक हो या पौराणिक, धार्मिक हो या सामाजिक सभी का भारतीय साहित्य में और जनमानस की चेतना में विशेष प्रसंग है, विशेष उपयोगिता है, उनका अपना विशेष महत्व है | आज...

राम की शक्ति पूजा और नवरात्रि का आरंभ | रामनवमी

राम की शक्ति पूजा और नवरात्रि का आरंभ | रामनवमी

राम की शक्ति पूजा जिसे नवरात्रि का आरंभ भी माना जाता है और इस कथा को अपने खूबसूरत शब्द - विन्यास, वाक्य - विन्यास के साथ प्रस्तुत किया है मां बागेश्वरी के सुयोग्य पुत्र...

राम की शक्ति पूजा और नवरात्रि का आरंभ | रामनवमी

राम की शक्ति पूजा और नवरात्रि का आरंभ | रामनवमी

कुछ कहानियां सूर्योदय के साथ ही आरम्भ नहीं होती बल्कि सूर्यास्त के समय में भी देखी जा सकती हैं जो कि भविष्य के लिए अनवरत प्रेरणादायी बनी रहती हैं 

;
dsadfsdaf
©2020, सभी अधिकार भारतीय परम्परा द्वारा आरक्षित हैं। MX Creativity के द्वारा संचालित है |