Bhartiya Parmapara

दीपावली पर किये जाने वाले उपाय | Diwali Puja | लक्ष्मी पूजन

दीपावली एवं धनतेरस को धन की देवी माँ लक्ष्मी की पूजा-अर्चना करते हैं जिससे माँ लक्ष्मी धन में वृद्धि का आशीर्वाद देती है। शास्त्रों में बताए उपायों की अपनाकर माँ का आशीर्वाद प्राप्त कर सकते है। 

Diwali Diya दीपावली के दिन आप एक नई झाडू खरीदे। इस नई झाडू की पूजा कर आप पूरे घर की सफाई नई झाडू से करें। जिसके बाद झाडू को छुपाकर रख दें। दीपावली के दिन मंदिर में झाड़ू का दान करना शुभ माना है। 

Diwali Diya दीपावली के दिन एक बिना कटा - फटा पीपल का पत्ता तोड़कर घर में लाए और इस पत्ते पर 'ऊँ महालक्ष्म्यै नमः' लिखकर पूजा स्थल पर रख दें। 

Diwali Diya दीपावली पर लक्ष्मी पूजन के बाद घर के सभी कमरों में शंख और घंटी बजाना चाहिए। इससे घर की नकारात्मक ऊर्जा और दरिद्रता बाहर चली जाती है और माँ लक्ष्मी का आगमन घर में होता है। 

Diwali Diya दीपावली पर लक्ष्मी पूजन में पीली कौड़ियां भी रखनी चाहिए। ये कौडिय़ा पूजन में रखने से माँ बहुत ही जल्द प्रसन्न होती हैं। इससे धन संबंधी सभी परेशानियां खत्म होती है ।

Diwali Diya दीपावली पर तेल का दीपक जलाएं और दीपक में एक लौंग डालकर हनुमानजी की आरती करें। किसी भी हनुमान मंदिर में जाकर दिया लगा सकते हैं। 

Diwali Diya दीपावली पर किन्नरों को मिठाइयां और पैसे देकर बदले में किन्नर से उसकी खुशी से एक रूपये के सिक्के को मांग कर अपनी तिजोरी या अपने पर्स में रखें। इससे बरकत होती है ।

Diwali Diya दीपावली पर सुबह-सुबह शिवलिंग पर तांबे के लोटे से जल अर्पित करें और शिवलिंग पर अक्षत चढ़ाएं। खंडित चावल शिवलिंग पर चढ़ाना नहीं चाहिए। 

Diwali Diya लक्ष्मी पूजन के समय हल्दी की गांठ भी साथ रखें। लक्ष्मी पूजन होने के बाद इन हल्दी की गांठ को घर में वहां रखें जहां पर आप अपने रूपये-पैसे रखते हो। ऐसा करने से धन में बरकत होगी।

Diwali Diya दिवाली की रात लक्ष्मी पूजन से पहले लौंग और इलायची का मिश्रण बना लें। फिर इस मिश्रण से सभी देवी-देवताओं को तिलक लगाएं। इस प्रयोग से माँ लक्ष्मी की कृपा प्राप्त होती है। 

Diwali Diya दीपावली पर लक्ष्मी पूजन करने के लिए स्थिर लग्न श्रेष्ठ माना जाता है। इस लग्न में पूजा करने पर महालक्ष्मी स्थाई रूप से घर में निवास करती हैं।

Diwali Diya दीवाली की रात सोने से पहले किसी चौराहे पर या किसी पीपल के पेड़ के नीचे तेल का दीपक जलाएं। यह उपाय दीपावली की रात में किया जाना चाहिए। ध्यान रखें दीपक लगाकर घर लौट आए, वापिस पीछे पलटकर नही देखें।

Diwali Diya लक्ष्मी पूजन के समय एक नारियल लें और उस पर अक्षत, कुमकुम, पुष्प आदि अर्पित करें और उसे भी पूजा में रखें।

Diwali Diya प्रथम पूज्य श्रीगणेश को दूर्वा अर्पित करें। दूर्वा की 21 गांठ गणेशजी को चढ़ाने से उनकी कृपा प्राप्त होती है। दीपावली के शुभ दिन यह उपाय करने से गणेशजी के साथ महालक्ष्मी की कृपा भी प्राप्त होती है।

Diwali Diya महालक्ष्मी के चित्र या मूर्ति का पूजन करें, जिसमें लक्ष्मी अपने स्वामी भगवान विष्णु के पैरों के पास बैठी हैं। ऐसे करने पर देवी बहुत जल्द प्रसन्न होती हैं।

Diwali Diya दीपावली की रात अपने घर में श्रीयंत्र स्थापित करें और रात को कनकधारा स्त्रोत का पाठ करें। रामरक्षा स्तोत्र या हनुमान चालीसा या सुंदरकांड का पाठ भी किया जा सकता है। धन वृद्धि में यह उपाय बड़ा शुभ और सफल माना जाता है। 

Diwali Diya यदि संभव हो सके तो दीवाली वाले दिन किसी तालाब या नदी में मछलियों को आटे की गोलियां बनाकर खिलाएं। इस पुण्य कर्म से बड़े से बड़े संकट भी दूर हो जाते हैं।

Diwali Diya एक बात का विशेष ध्यान रखें कि माह की हर अमावस्या पर पूरे घर की अच्छी तरह से साफ-सफाई की जानी चाहिए। साफ-सफाई के बाद घर में धूप-दीप-ध्यान करें। इससे घर का वातावरण पवित्र और बरकत देने वाला बना रहेगा।

Diwali Diya लक्ष्मी पूजन में सुपारी रखें। सुपारी पर लाल धागा लपेटकर अक्षत, कुमकुम, पुष्प आदि पूजन सामग्री से पूजा करें और पूजन के बाद इस सुपारी को तिजोरी में रखें।

Diwali Diya घर में स्थित तुलसी के पौधे के पास दीपावली की रात में दीपक जलाएं। तुलसी को वस्त्र अर्पित करें।

Diwali Diya जो लोग धन का संचय बढ़ाना चाहते हैं, उन्हें तिजोरी में लाल कपड़ा बिछाना चाहिए। इसके प्रभाव से धन का संचय बढ़ता है। महालक्ष्मी का ऐसा फोटो रखें, जिसमें लक्ष्मी बैठी हुईं दिखाई दे रही हैं।

Diwali Diya महालक्ष्मी के महामंत्र ऊँ श्रीं ह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद् श्रीं ह्रीं श्रीं ऊँ महालक्ष्मयै नम: का कमलगट्टे की माला से कम से कम 108 बार जप करें। 

Diwali Diya ब्रह्म मुहूर्त में लक्ष्मीजी के मंदिर में जाकर पूजन-अर्चन कर, गुलाब का इत्र, गुलाब की अगरबत्ती, कमल पुष्प, लाल गुलाबी वस्त्र तथा खीर का नैवेद्य लगाएं।

Diwali Diya दीपावली की रात लक्ष्मी पूजा करते समय एक थोड़ा बड़ा घी का दीपक जलाएं, जिसमें नौ बत्तियां लगाई जा सके। सभी 9 बत्तियां जलाएं और लक्ष्मी पूजा करें।

Diwali Diya दीपावली की रात में लक्ष्मी पूजन के साथ ही अपनी दुकान, कम्प्यूटर आदि ऐसी चीजों की भी पूजा करें, जो आपकी कमाई का साधन हैं।

Diwali Diya धनिया धन को आकर्षित करने वाली वनस्पति है। भोजन में इसका प्रयोग मस्तिष्क में जाकर नए विचारों का सृजन करके धनार्जन का मार्ग प्रशस्त करते हैं। भगवती लक्ष्मी को दिवाली पर धनिया के बीज और गुड़ अर्पित करना शुभ माना जाता है। 

Diwali Diya भाग्योदय के लिए लक्ष्मीजी को चने की दाल कच्ची चढ़ाकर बाद में पीपल वृक्ष में चढ़ा दें। 

Diwali Diya महानिशा के पूजन में माँ लक्ष्मी को धान का लावा और पताशे अर्पण करने चाहिए | 

Diwali Diya अच्‍छे कामकाज में अगर नजर लगती रहती है और बढ़ा आती रहती है तो रात्रि में कार्यस्थल पर से एक फिटकरी का बड़ा टुकड़ा लेकर उतारा उतारें तथा चौराहे पर फेंक दें। इससे कार्य क्षेत्र की बाधा दूर होती है। 

Diwali Diya गंदी जगह, दुर्गंध वाली जगह तथा जहां पर लोग व्यसन करते हैं, आपसी झगड़ों में लिप्त रहते हों, जहां स्त्रियों का अपमान होता हो या जहां की स्त्रियों का व्यवहार ठीक न रहे ऐसे स्थान पर लक्ष्मीजी कभी नहीं रहती हैं, जीवन में इन बातों का ध्यान रखना चाहिए | 

आप सभी की भारतीय परंपरा टीम की तरफ से दीपावली के ढेरो बधाईया | आपकी दीपावली मंगलमय हो, दीपावली पर्व को धूमधाम से मनाये साथ में कोरोना महामारी, वायु प्रदूषण, ध्वनि प्रदूषण और फटाखों से जलने से स्वयं बचे और दुसरो की भी रक्षा करे | 

यह भी पढ़े - 
Diwali Diya जानें क्यों मनाया जाता है धनतेरस का त्योहार ?
Diwali Diya नरक चतुर्दशी, काली चौदस, रूप चौदस, छोटी दीवाली या नरक निवारण चतुर्दशी का महत्व
Diwali Diya दीपावली क्यों मनाते है?
Diwali Diya दीपावली पूजा की सामग्री और विधि 
Diwali Diya दीपावली पर किये जाने वाले उपाय
Diwali Diya गोवर्धन पूजा क्यो करते हैं ?
Diwali Diya भाई दूज क्यों मनाई जाती है?
Diwali Diyaलाभ पंचमी का महत्व | सौभाग्य पंचमी 
Diwali Diya जानिए क्यों मनाई जाती है देव दिवाली
 

Login to Leave Comment
Login
No Comments Found
;
©2020, सभी अधिकार भारतीय परम्परा द्वारा आरक्षित हैं। MX Creativity के द्वारा संचालित है |