Bhartiya Parmapara
अण्डवान  का दशहरा

अण्डवान का दशहरा

क्वाँर का महीना था और दोपहर का समय, सुनहरी धूप खिली हुई थी। सर्द-गर्म मिश्रित हवा फूलों की खुशबू को पूरे अण्डावन में बिखेर रही थी। पत्तियों की सरसराहट व पक्षियों के कलर...

गणेश उत्स्व

गणेश उत्स्व

बरखा रानी के आँख मिचौली का खेल देखकर, बाजार हाट में बैठे सभी छोटे- छोटे दुकानदारों के चेहरे मुरझाने लगे। पूरा सावन बरखा रानी को रिझाने में बीत गया और जब वह हर्षित हो बर...

विश्वास

विश्वास

"लगता है तुम फिर मुंगेरीलाल की तरह सपने देखने लगे हो हरिया कहते हुए श्याम मुस्कुराने लगा हर साल यहीं क्रम चलता है तुम्हारा, मृग लगे नहीं की तुम्हारे सपनों की...

अंकुरित विश्वास

अंकुरित विश्वास

घर-आंगन में रेहान ने नयी विज्ञान की रंग-बिरंगी पुस्तक अपने जन्मोत्सव पर अपनी नानी अम्मा से पाकर काफी खुश था। वह उस पुस्तक को पढ़कर और देखकर अपने कमरे में साज...

यात्रा

यात्रा

ट्रेन रफ्तार से दौड़ी जा रही थी और उसके साथ ही मेरे विचारों ने भी रफ्तार पकड़ ली अतीत में छुट्टियों के दौरान की गई यात्राओं के सुखद पल मानस पटल पर अंकित होते...

परीक्षा

परीक्षा

राघव देखा तुमने पिछले तीनों एग्जाम में अंकित ने कैसे बाजी मारी कभी तो तुम भी टॉप कर हमारा नाम रोशन कर दिया करो कहते हुए सोनिया अपने कमरे में सोने चली गई।

होली

होली

हैलो हैलो! क्या बात है ठेकेदार आधी रात में फोन करने का कारण...? सर मैंने आपसे पहले ही कहा था इतनी रेत मिलाना सही नहीं है, पर आपने उस समय हँसकर बात टाल दी आपने...

यह घर बहुत हसींन  है

यह घर बहुत हसींन है

वह अपने उस छोटे से घर को बहुत ज्यादा प्यार करता था। उस घर की एक-एक चीज से, एक-एक सदस्य से।एक अनुभवी माली की तरह वह अहर्निश बिला - नागा अपनी बग़िया को सजाने-सँव...

आभूषण

आभूषण

दुल्हन का लिबास पहने जैसे ही दर्पण में आभा अपना प्रतिबिंब निहार रही थी तभी मॉं ने कमरे में प्रवेश किया। आभा तुनक कर मॉं से कहने लगी "घाघरे का यह रंग तो मुझे पसंद ही नही...

;
dsadfsdaf
©2020, सभी अधिकार भारतीय परम्परा द्वारा आरक्षित हैं। MX Creativity के द्वारा संचालित है |